Til Ke Laddu | तिल के लड्डू | Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi | Til Gud Aate Ke Laddu

Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi- तिल के लड्डू ठंड का मौसम शुरू होते ही घरों में तिल के लड्डू बनने की शुरु वात हो जाती है, तिल के

लड्डू वैसे तो चीनी और गुड दोनों से ही बनाये जा सकते है लेकिन गुड के साथ तिल की जुगल बंदी ज्यादा अच्छी होती है.

तिल के लड्डू (Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi) में पड़ने वाला गुड

गुड सर्दियों में बहुतायत में उपलब्ध रहता है और नेचुरल होने के कारण चीनी की तुलना में हमारे शरीर के लिए ज्यादा

फायदेमंद होता है क्योंकि चीनी को बहुत सारे तरीके लगाकर रिफाइंड किया जाता है जिससे चीनी सफ़ेद व दिखने

में तो अच्छी लगने लगती है लेकिन इस सारी प्रक्रिया अच्छे गुण भी खो देती है.

तिल गुड आटे के लड्डू (Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi) ठंडी का समय शुरू होते ही खूब बनते है लेकिन मकर संक्रांति के

पवित्र अवसर पर तिल गुड के लड्डू का खास महत्व होता है

तिल के लड्डू (Til Ke Laddu) का मुख्य तत्व तिल

कहा जाता है कि तिल हमारे देश में प्राचीन काल से पाया जाता है या कहें खाने वाले तेल का जनक तिल ही है

शास्त्रों में तिल को बहुत उपयोगी माना जाता है तिल से ही तेल शब्द बना है

तिल का तेल या तिल हमारे जीवन में अध्यात्मिक रूप से लेकर खाने तक सभी जगह अपनी उपस्थिति दर्ज कराता है

तिल उर्जा व सेहत से परिपूर्ण होता है इसी अद्भूत तिल से बनते हैं Til Ke Laddu.

आवश्यक सामग्री – Ingredients for Til Ke Laddu

  • तिल – 300 ग्राम
  • गुड़ – 500 ग्राम
  • बादाम- 100 ग्राम
  • घी – 50 ग्राम
  • मूंगफली – 50 ग्राम
  • आटा – 250 ग्राम (मोटा पिसा हुआ)
  • नारियल – 100 ग्राम (कद्दुकस किया हुआ)
  • अलसी – 50 ग्राम

 

तिल के लड्डू (Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi) बनाने की विधि

Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi तिल, भूने हुएं तिल व अलसी
Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi तिल, भूने हुएं तिल व अलसी
Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi  के लीये  हल्की भुनी मूँगफली, बादाम व छोटें टुकड़ों में तोडा हुआ गुड
Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi  के लीये  हल्की भुनी मूँगफली, बादाम व छोटें टुकड़ों में तोडा हुआ गुड

तिल गुड आटे के लड्डू (Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi) बनाने के लिए सबसे पहले तिल साफ करके किसी कढ़ाई

या फ्राई पेन में डालकर हल्का भूण लें, ठंडा करके मिक्सी की सहायता से पीसकर रख लें.

अब इसी तरह बारी बारी बादाम, अलसी, मूंगफली को भी हल्का रोस्ट करके पीसकर रख लें

आटे को एक कढ़ाई में डालकर भूने, जब आटा थोडा भुन जाये तो उसमे धी डालकर गुलाबी होने तक भूने

Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi के लिए भुना हुआ मोटा आटा
Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi के लिए भुना हुआ मोटा आटा

गुड को पिघलाएं

उसी गर्म कढ़ाई में गुड को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़कर डालें व दो चम्मच पानी डालकर मध्यम आंच पर रखें व

थोड़ी-थोड़ी देर में चलाते रहें.

Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi के लिए गुड की चाशनी
Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi के लिए गुड की चाशनी

जब गुड पिघल जाये तो अच्छे से किसी चमचे या करछी की मदद से चलायें

सारी भूनी हुई व पीसकर रखी हुई सामग्री तिल, आटा, मूँगफली, बादाम, अलसी और कद्दुकस किया हुआ सूखा

नारियल सभी को किसी परात या बड़े बर्तन जिसमे सारी सामग्री अच्छे से मिलायी जा सके  एक साथ डालकर हाथों

से अच्छे से मिला लें.

तिल के लड्डू (Till Ke Laddu) चाशनी मिलायें सावधानी के साथ

सारे मिलाये हुए मिश्रण में पिघलाकर रखी हुई गुड की चाशनी डालकर चमचे से अच्छे से चलाते हुए मिलायें

इसको मिलाते हुए थोड़ी सावधानी रखें क्योंकि चाशनी गर्म है तो किसी पलटे या चमचे से ही चलायें ताकि हाथ

न जलें

जब मिश्रण थोडा ठंडा हो जाये तो अपनी पसंद के आकार के गोल गोल लड्डू बना लें, मिश्रण ज्यादा ठंडा न करें

क्योंकि ठंडा होने पर इसके लड्डू बंधने में थोड़ी दिक्कत होती है.

अगर फिर भी मिश्रण ज्यादा सूखा हो जायें तो दो से चार चम्मच गर्म दूध इसमें डालकर मिला सकते है जिससे तिल

के लड्डू बंधने आसान हो जायेंगे, बनाकर थोड़े समय के लिए खुले बर्तन में ही रख दें ताकि इनकी अतिरिक्त नमी

उड़ जाये.

तिल के लड्डू बेहद स्वादिष्ट व सेहत से भरपूर बने है किसी भी ढक्कन वाले डब्बे में तिल के लड्डू (Til Ke Laddu)

रखें  इन लड्डू को आप किसी भी समय खाकर ऊर्जावान महसूस कर सकते है.

तिल के लड्डू बनाने की विधि (Til Ke Laddu Banane Ki Vidhi) के लिए  सुझाव | foodiedil Suggestions :-

बादाम, अलसी, मूँगफली व खासकर तिल को हल्का भूने, क्योंकि ज्यादा भूनने से अच्छे गुण थोड़े कम हो जाते

है और हमें पूर्ण लाभ नहीं होता है.

आटा मोटा ही इस्तेमाल करें मोटे आटे से तिल के लड्डू में एक अलग स्वाद व क्रंच आता है.

गुड के विषय में विशेष सुझाव

गुड बिना मसाले वाला ही लें क्योंकि आजकल बाज़ार में गुड की सुन्दरता को बढ़ाने के लिए बहुत सारे

केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है जिससे बने गुड को मसाले वाला गुड कहते है जो देखने में तो बहुत

ज्यादा अच्छा दिखता है लेकिन स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता. वैसे भी गुड का प्राकर्तिक रंग हल्का

कालापन लिए ही होता है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *