मेथी का दाना (Methi Ka Dana) सूखे मसालों में अपनी एक अलग पहचान रखता है जो भारतीय खाने का एक बहुत जरूरी हिस्सा है.

मेथी का दाना (Methi Ka Dana) हर घर की मसाला दानी में मिलने वाले मसालों में से एक है फिर चाहे वह मसाला-दानी अमीर की हो चाहे गरीब की, और उसका सबसे बड़ा कारण है मेथी के दाने (Methi Ka Dana) के दाम व सुलभता से उपलब्धता ।

पैदावार की द्रष्टि से मेथी का दाना | Methi Ka Dana

सारे भारत में उगने वाली मेथी एक ऐसा पौधा है जो अपने फसलीय काल के प्रत्येक पड़ाव पर हमारे खाने में काम आता है, एक फिट तक बढ़ने वाली मेथी जब हरी होती है तो सब्जी व मेथी के पराठे बनाने में उपयोग की जाती है,

मेथी की हरी पत्तियों को सुखाकर भी मसालों के रूप में लिया जाता है जिसको हम कसूरी मेथी के नाम से खूब प्रयोग करते हैं  जब पककर तैयार होती है तो प्राप्त होता है मेथी का दाना (Methi Ka Dana) जो दिखने में तो छोटा अर्थात मूंग दाल के आकार का ही होता है लेकिन फायदे में बहुत बड़ा होता है, मसलों व दवाइयों में खूब इस्तेमाल होता है.

पशुओं के चारे के रूप खिलाने के काम भी आती है मेथी, वैसे तो सारे भारत में मेथी उगाई जाती है लेकिन राजस्थान के नागोर जिले में मेथी की पैदावार अत्यधिक होती है, यू तो मेथी के बहुत सारे व्यंजन भारतीय खाने में बनाये जाते है फिर चाहे वह हरी मेथी हो, सुखी  मेथी हो या मेथी का दाना(Methi Ka Dana).

आयुर्वेद की नजर से मेथी का दाना (Methi Dana Ke Fayde)

Methi Dana Ke Fayde

Methi Dana Ke Fayde

आयुर्वेद में अनेकों स्थानों पर यह वर्णन है कि मेथी का दाना एक बहुत फायदेमंद दवाई है जो भले ही मुख्यतः मसाले के रूप में प्रयोग किया जाता है, फिर चाहे वह गर्भवती महिलाये हो या शुगर से पीड़ित अन्य कोई व्यक्ति.

किसी को मेथी का दाना लड्डू के रूप में फायदा पहुचाता है तो किसी को अपने तेल के प्रयोग से, अपने इस ब्लॉग के माध्यम से आगे इस दिव्य मेथी के दाने (Methi Dana Ke Fayde) के और भी बहुत से फायदों के बारे में जानेंगे।

Fenugreek Seeds in Hindi | मेथी का दाना

मेथी दाने का वानस्पतिक नाम ट्राइगोनेला फीनम् ग्रीकम् है.  इसको फेबेसी कुल का पौधा माना जाता है.

Methi Dana Ke Fayde | मेथी दाने के फायदे  व  उपयोग

मेथी दाने के अनगिनत फायदे होते है जो इस प्रकार है हमारी त्वचा की देखभाल में भी मेथी अच्छा खासा योगदान है, कई सारी आयुर्वैदिक साबुन इत्यादि भी मेथी के दानों (Methi Ka Dana) का प्रयोग करते हुए बनायी जाती हैं.

मेथी दाने का प्रयोग बहुत सारी बिमारियों की ओषधि बनाकर कई रोगों में काम में ली जाती है व रोगियों को रोगों से मुक्ति दिलाने में बहुत काम करता है मेथी का दाना।

बालों को  झड़ने से  रोकने में मदद करता है  मेथी का दाना मेथी के से बालों का झड़ना रोका जा सकता है। 1-2 चम्मच मेथी के दानें रात भर पानी में भिगोकर छोड़ दें  व सुबह इसको पीसकर चटनी जैसा बना लें.

इसको बालों की जड़ों में लगाएं। एक से दो घण्टे तक इसको बालों में लगाकर छोड़ दें व फिर बालों को पानी से अच्छे से धोकर साफ़ कर लें। इसको अगर महीने में चार से पांच बार लगाने से बालों का गिरना काफी हद तक रूक जाता हैं

कान के बहने को रोकने में भी मेथी के फायदें (Methi Dana Ke Fayde)

मेथी के फायदें (Methi Dana Ke Fayde) की बात करे तो कई बार बच्चों के कान बहने लगते हैं इस बीमारी में मेथी के दानें को प्रयोग में लिया जा सकता है, मेथी के दानों (Methi Ka Dana) को दूध के साथ पीस कर छानकर इस दवाई को बनाया जा सकता है.

इस दवाई को हल्का गुनगुना करके कानों में डालने से कानों का बहना रूक जाता है

मेथी के दानें (Methi Ka Dana) के प्रयोग से दिल के रोगों में फायदा

अपने एंटीआक्सीडेंट गुणों की वजह से मेथी हार्ट रोगों में भी कई रूपों से फायदा पहुचाने का काम करती है, मेथी  रक्त-प्रवाह  को ठीक रखने में मदद करती है.

मेथी के दाने में अच्छे फाइबर पाये जाते है, जो हृदय रोग के कारणों को बहुत कम कर देता है, मेथी के दाने नियमित प्रयोग से खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम करने में काफी मदद मिलती है ।

पेट के रोग में मेथी के सेवन से लाभ Methi Dana Ke Fayde

मेथी के दानें (Methi Ka Dana) कब्ज को ख़त्म करने में बहुत लाभकारी होते हैं, रात में मेथी दाने का चूर्ण या दाना गर्म पानी के साथ लेने से सुबह पेट अच्छे से साफ़ हो जाता है, इससे अपच, गैस व उलटी की समस्या में भी बहुत फायदा मिलता है

मेथी का दाना (Methi Ka Dana) बनाने की विधि

खाने में रूचि बढ़ाना के लिए मेथी का दाना बनाया जाता है जो खाने में बहतु स्वादिस्ट लगता है व इसको बनाना भी बहुत आसान होता है

मेथी का दाना बनाने के लिए सामग्री
  • मेथी का दाना – 100 ग्राम (4 से 5 घंटे पानी में भीगा हुआ)
  • हरी मिर्च – 50 ग्राम (गोल टुकड़ों में कटी हुई)
  • सरसों का तेल – 25 ग्राम (4 से 5 चम्मच)
  • अमचूर – 1 टेबल स्पून
  • धनिया पाउडर – 1 टेबल स्पून
  • हल्दी पाउडर – आधा छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर – आधा छोटी चम्मच
  • हींग – 2 चुटकी
  • नमक – 1 चम्मच (स्वादनुसार)
Methi Ka Dana मेथी का दाना भिगोकर रखा हुआ

Methi Ka Dana मेथी का दाना भिगोकर रखा हुआ

चलिये बनाते है मेथी का दाना (Methi Ka Dana)

एक कढ़ाई में तेल डाल कर आंच पर गर्म होने के लिए रख दें, मेथी दाने को पानी से अलग कर लें जब तेल गर्म हो जाये तो आंच धीमी कर दें, तेल में हींग डालें व कटी हरी मिर्च डालकर थोडा चलायें,

अमचूर को छोड़ कर सारे सूखे मसालें डालकर थोडा चलाते हुए पकाएं, पानी से अलग की गई मेथी इस मसाले में डालकर ऊपर से नमक दाल दें  व ढककर धीमी आंच पर 5 मिनट के लिए पकने दें,

Methi Ka Dana मेथी का दाना कढ़ाई में मसालों के साथ बनता हुआ

Methi Ka Dana मेथी का दाना कढ़ाई में मसालों के साथ बनता हुआ

ढक्कन उघाड़कर अमचूर पाउडर डालकर पलटे से चलाकर वापिस 5 मिनट के लिए ढककर पकने दें मेथी दाने की स्वादिष्ट व जायकेदार डिश तैयार है इसको आप मिस्सी रोटी, पूरी, पराठे या कचोरी के साथ खायेंगे तो यह आपके स्वाद व सेहत दोनों का ध्यान रखेगा

फूड़ीदिल सुझाव | Suggestions of Foodiedil

भीगी हुई मेथी का पानी फेकना नहीं चाहिए इसमें बहुत ओषधीय गुण होते है, इसको घर के सभी

Methi Ka Dana मेथी का दाना व उसका फायदेमंद पानी

Methi Ka Dana मेथी का दाना व उसका फायदेमंद पानी

सदस्य दो दो चम्मच ऐसे ही पी सकते हैयह मेथी का दाना बनाकर रख लें व रोजाना थोडा थोडा खाएं, क्योंकि यह 10 से 12 दिनों तक ख़राब नहीं होता है.

 

 

 

 

1 thought on “Methi Ka Dana | Fenugreek Seeds in Hindi | Methi Dana Ke Fayde”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Methi Ka Dana | Fenugreek Seeds in Hindi | Methi Dana Ke Fayde

Methi Ka Dana मेथी का दाना