Masala Khichdi Recipe | Vegetable Khichdi | वेजिटेबल खिचड़ी रेसिपी | मसाला खिचड़ी रेसिपी

मसाला खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe) का नाम आते ही इसकी तस्वीर दिलों दिमाग में उभर आती है, मुहँ में पानी कुलाचे मारने लगता है बस मन करता है कि वेजिटेबल खिचड़ी (Vegetable Khichdi) खाने को मिल जाये.

मसाला खिचड़ी अपने आप में एक प्रचलित नाम होने के साथ बहुत रोचक या कहें अनूठा नाम भी है और इसपर बहुत सारी कहावतें भी खूब गढ़ी गई हैं कहा भी जाता है कि “क्या खिचड़ी पक रही है” कई बार आप तुनक मिजाज लोगों के बारे में कहा जाता सुनेंगे कि “यह अपना ढाई चावल अलग ही पकाता है” तो भाई कह सकते है की जलवा है अपनी वेजिटेबल खिचड़ी का.

सारे देश में खायी जाती है  वेजिटेबल खिचड़ी (Vegetable Khichdi) या मसाला खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe)

जी हाँ आज हम बात कर रहे है मसाला खिचड़ी रेसिपी  की जो उत्तर से लेकर दक्षिण और पूर्व से लेकर पश्चिम सारे भारत में खूब

आजमायी जाती है व बहुत ज्यादा खायी जाती है.

मकर संक्रांति के पवित्र अवसर पर खासकर वेजिटेबल खिचड़ी बनाकर (Masala Khichdi Recipe) खूब खायी जाती है व भंडारे

भी लगाये जाते हैं

सर्दियों के मौसम में जब सब्जियों की भरमार होती है तो वेजिटेबल मसाला खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe) का जायका ओर

भी बढ़ जाता है, वैसे तो खिचड़ी बनाने में साधारण चावल का ही प्रयोग किया जाता है लेकिन अगर आप इसको नये चावल से

बनाते है तो अधिक स्वादिष्ट बनती है वैसे भी चावल की फसल सर्दियों के मौसम की शुरुवात में ही कटकर तैयार होती है

चावल के बारे में प्रचलित कथन (Vegetable Khichdi/Masala Khichdi Recipe)

कहा जाता है कि चावल जितना पुराना होता है उतना ज्यादा अच्छा माना जाता है क्योंकि पुराना चावल बनने के बाद

ज्यादा लम्बा बनता है और खिला खिला भी रहता है जो कि हम पुलाव या दाल, राजमा इत्यादि के साथ प्लेन चावल

बनाने में प्रयोग करते है

लेकिन जब बात वेजिटेबल खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe) की हो तो इसमें चावल घुट जाता है तो पुराने चावल की आवश्यकता

ही नहीं है इसमें हम नए चावल को लेते है और कोशिश करते है कि चावल पोलिश उतरा हुआ न हो अर्थात मिल का चावल

होने के बजाए अगर किसान से सीधा लिया गया चावल हो तो ज्यादा अच्छा होता है

Masala Khichdi Recipe में उपयोग किये जाने वालें बिना पोलिश उतारे हुएं चावल
Masala Khichdi Recipe में उपयोग किये जाने वालें बिना पोलिश उतारे हुएं चावल

इसके पीछे एक कारण यह भी है कि मिल वाले चावलों में ज्यादा सुन्दरता लाने के चक्कर में चावल को कुछ ज्यादा ही खुरच देते

है या कहें  रिफाइं कर देतें है जिससे चावल की नेचुरल मिठास ख़त्म हो जाती है उससे वेजिटेबल खिचड़ी के स्वाद पर असर

पड़ता है

यह मिल (Mill) का चावल पुलाव व चावल बनाने के लिए तो उत्तम होता है लेकिन वेजिटेबल खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe)

के लिए कही न कही उतना ज्यादा अच्छा  नहीं होता ऐसा मेरा मानना है.

वेजिटेबल खिचड़ी  (Vegetable Khichdi/Masala Khichdi Recipe) के लिए सामग्री

  • चावल – 150 ग्राम (बासमती)
  • मूंग दाल धुली – 50 ग्राम (वैकल्पिक)
  • हरी मटर के दाने – 50 ग्राम
  • फूल गोभी – 50 ग्राम (कटी हुई)
  • शिमला मिर्च – 50 ग्राम (कटी हुई)
  • आलू – 2 (लम्बाई में कटे हुएं)
  • गाजर – 50 ग्राम (कटी हुई)
  • टमाटर – 2 (बारीक कटे हुएं)
  • प्याज ­­­­­- 1 (बारीक कटा हुआ)
  • लहसुन –  4 कली (बारीक कटा हुआ)
  • तेल – 2 चम्मच (सरसों या रिफाइंड आयल)
  • घी – 2  चम्मच
  • हरा धनिया – 50 ग्राम (कटा हुआ)
  • जीरा – 1 छोटी चम्मच
  • लौंग – 4 दानें
  • काली मिर्च – 4 दानें
  • हींग – 1 चुटकी
  • धनिया पाउडर – 1 चम्मच
  • हल्दी पाउडर – 1 छोटी चम्मच
  • अदरक – 1 इंच का टुकड़ा (बारीक-बारीक लम्बाई मे कटा हुआ)
  • हरी मिर्च – 2 (कटी हुई)
  • लाल मिर्च पाउडर – आधा छोटी चम्मच
  • गरम मसाला – आधा छोटी चम्मच
  • नमक – 2 छोटी चम्मच (स्वादानुसार)
चलिये शुरू करते है वेजिटेबल खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe) बनाने की विधि :

सबसे पहले सारी कटी हुई सब्जियों को धो कर एक तरफ रख लेते है

Masala Khichdi Recipe/Vegetable Khichdi
Masala Khichdi Recipe/Vegetable Khichdi
Masala Khichdi Recipe/Vegetable Khichdiके लिए आलू, प्याज, टमाटर, अदरक, लहसुन, व हरी मिर्च
Masala Khichdi Recipe/Vegetable Khichdi

चावलों को व दाल को अच्छे से धोकर भिगोकर रख देते है,

एक प्रेसर कुकर को गैस ऑन करके उस पर रख दें व तेल डालकर गर्म करें वैसे तो वेजिटेबल खिचड़ी कढ़ाई या अन्य किसी गहरे तले के बर्तन में भी बना सकते है लेकिन कुकर में इसका स्वाद ज्यादा उभरकर आता है

तेल गर्म होने पर जीरा डालकर भूनें, काली मिर्च व लौंग भी डाल दें

कटें हुए प्याज डालकर पारभासी होने तक भूनें, अदरक व हरी मिर्च डालें किसी करछी की मदद से थोडा चलायें

वेजिटेबल खिचड़ी में सब्जियों को डालने का सही समय

अब इसमें सारी कटी हुई सब्जी गोभी, गाजर, शिमला, टमाटर व लहसुन डालकर अच्छे से चलाते रहें

जो घी हमने लिया है उसको इसी समय डालें जैसे ही आप घी डालकर थोडा सा पकायेंगे तो खुशबू से रसोई महक उठेगी

बाकि सारे सूखे मसालें हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर व गर्म मसाला डालकर अच्छे से पकायें

जब मसाला चिकनाई छोड़ने लगे तो समंझ लें मसाला पक चुका है और सभी सब्जियों में रच बस भी गया है

अब इसमें भिगोकर रखें हुए चावल व दाल डाल कर चलाईये, नमक डालिये व लगभग एक  से डेढ  लीटर पानी डालकर

कुकर का ढक्कन बंद करके 1 सीटी आने दें व जब दूसरी आने को हो तो आने से पहले ही गैस बंद कर दें

10 मिनट तक ढक्कन बंद रहने दे और उसी की हीट में खिचड़ी  (Vegetable Khichdi) पकने दें

जब प्रेसर ख़त्म हो जाये तो ढक्कन खोलकर वेजिटेबल खिचड़ी को करछी से चलाये व हरा धनिया डाल कर थोड़ी देर के लिए

छोड़ दें ताकि धनिये का स्वाद खिचड़ी में अच्छे से रच बस जाये

वेजिटेबल खिचड़ी एकदम तैयार है ढक्कन खोलें और अपनी पसंद के बर्तन में निकाल कर परोसें

इसको  आप मक्खन, दही, घी या अचार के साथ खाएं, बहुत सारे स्थानों पर खिचड़ी के साथ पापड़ भी खाया जाता है

वैस भी खिचड़ी के बारे में एक बहुत प्रसिद्ध कहावत है कि  “खिचड़ी तेरे चार यार दही पापड़ घी अचार”.

वेजिटेबल खिचड़ी (Vegetable Khichdi) बहुत शानदार बनी है इस वेजिटेबल मसाला खिचड़ी को खाकर आपको परम

आनंद की प्राप्ति होगी

फूडीदिल सुझाव:

खिचड़ी बनाते हुए ज्यादा महंगे चावल लेने की आवश्यक्ता नहीं है इसमें टूटें हुए चावल से भी काम चला सकते है

वेजिटेबल खिचड़ी में लहसुन एकदम वैकल्पिक है चाहें तो न डालें वैसे हमने जिस तरह से या कहें जिस समय पर लहसुन

डाला है उससे लहसुन का स्वाद बहुत हावी नहीं होता है और एक हल्का सा पुट हमें मिला जाता है

ध्यान रखें की कुकर थोडा बड़ा ही प्रयोग में लें क्योंकि वेजिटेबल मसाला खिचड़ी में पानी खूब डालतें है ताकि खिचड़ी

लटपटी सी बने.

इस वेजिटेबल खिचड़ी (Masala Khichdi Recipe) में थोडा सा गुड़ भी डाला जा सकता है लगभग 10 से 15 ग्राम जिससे

स्वाद और भी उभरकर आता, लेकिन ये पुर्णतः आपके टेस्ट पर निर्भर करता है कि आप हल्का सा मीठा स्वाद चाहते

है या नहीं?

वेजिटेबल खिचड़ी में थोड़ी सी चने की दाल भी डाली जा सकती है जो इसको एक संपुष्टता प्रदान करती है और क्रंच भी देती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *