Ghewar Recipe | घेवर बनाने की विधि

Ghewar Recipe-घेवर तैयार है

Ghewar Recipe-उत्तर भारत खासकर दिल्ली राजस्थान हरियाणा उत्तर प्रदेश के आसपास के क्षेत्र में घेवर बहुत पसंद किया जाता है।

राजस्थान में विशेषकर  त्योहारों पर घेवर का महत्व होता है। मूलतः रक्षाबंधन और

जन्माष्टमी के अवसर पर और अगर राजस्थान की बात करें तो गणगौर के मौके पर घेवर बनाया जाता है ।

जो लोग भारत में रहते हैं वह तो घेवर का आनंद बाजार से खरीद कर भी ले सकते हैं क्योंकि

इस मौसम में सभी छोटी-बड़ी मिठाई की दुकान पर घेवर आसानी से मिल जाता है। लेकिन

जो लोग देश से बाहर रहते हैं उनको बाजार से आसानी से घेवर उपलब्ध नहीं हो पाता है

तो अब वह लोग भी  घेवर बनाने की विधि (Ghewar Recipe) को देखकर अपने घर में

घेवर को बनाकर इसका स्वाद ले सकते हैं।वैसे तो घेवर को देखकर ऐसा लगता है

कि इसको बनाने की विधि (Ghewar Recipe) बहुत ही जटिल होगी लेकिन ऐसा है नहीं।

आपने बाजार में बहुत बार इसको बनते देखा होगा।

घेवर बनाने की विधि-Gewar Recipe

घेवर बनाने के लिए विशेष आकार की कढ़ाई का प्रयोग किया जाता है जिसकी तली सपाट

एवं भारी होती है जो 10 से 12 इंच के आसपास गहरी और 6 से 7 इंच चौड़ी होती है इसको

बनाने के लिए बाजार में विशेष प्रकार के लोहे के छल्ले अथवा घेरे भी मिलते हैं।

जिनको हम बड़ी कढ़ाई में तेल के अंदर या घी के अंदर डालकर उपयोग कर

सकते हैं वैसे ज्यादातर हमारे घरों में भी इस प्रकार के बर्तन होते हैं । जिनको

प्रयोग में लाया जा सकता है जैसे छोटे आकार के भगोने ने या भगोनी जिस भी

आकार का हम बर्तन प्रयोग में लाते हैं उसी आकार का घेवर बनता है।

घेवर बनाने (Ghewar Recipe) के लिए आवश्यक सामग्री:-

  • घी  50 से 60 ग्राम
  • मैदा ढाई सौ से 300 ग्राम
  • दूध 70 से 80 ग्राम
  • पानी 800 ग्राम
  • तलने के लिए घी या रिफाइंड तेल।

चाशनी बनानेके लिए आवश्यक सामग्री:-

  • चीनी 500 ग्राम
  • पानी 250 ग्राम
सीखते हैं घेवर बनाने की विधि-Ghewar Recipe

एक बर्तन में मैदा ले लीजिए। अब घी को किसी बड़े कटोरे में डालकर उसमें बर्फ

के टुकड़े डालकर फेटिए, और तब तक फेटते रहिए जब तक यह क्रीम जैसा ना हो जाए।

बचे हुए बर्फ के टुकड़ों को हटा दीजिए, अब इसमें मैदा को थोड़ा-थोड़ा डालकर

फिर से फेटिए , मिश्रण गाढ़ा होने पर इसमें दूध मिलाकर फेटिए।

अब इसमें थोड़ा थोड़ा पानी डालते जाइए और तेजी के साथ फेटते रहिए।

आप को समझाने के लिए यह बताना जरूरी है कि Ghewar Recipe मिश्रण के गाढ़े पन को ऐसा बना लीजिए जैसे फेटने पर दही हो जाती है

या उससे थोड़ा पतला ताकि इसको एकसार धार में घी के अंदर डाला जाए अब जिस बर्तन में घेवर बनाना है।

उसमें घी या तेल गर्म कीजिए वैसे तो घेवर का आनंद देसी घी में बनाने पर ज्यादा आता है लेकिन यह अपने स्वाद के अनुसार आप ले सकते हैं।

अगर आपको रिफाइंड तेल में बना हुआ ज्यादा पसंद आता हो तो आप घी के स्थान पर रिफाइंड तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं।

तेल गर्म कीजिए और उसे उस तापमान तक गर्म कीजिए कि जब उसमें घोल की एक बूंद डालने पर वह तुरंत ऊपर आकर तैरने लगे।

अब एक चमचे की सहायता से लगभग 10 से 15 ग्राम घोल घी के अंदर डालिए आप जैसे ही घोल डालेंगे तो घी में तेजी से एक उफान सा आएगा।

फिर 1 से 2 मिनट में यह सारा मिश्रण किनारों की तरफ इकट्ठा होता जाएगा फिर दोबारा

इसी तरह से धार के रूप में डालिए और इस प्रक्रिया को तीन से चार बार तक दोहराएं।

आप को जितना बड़े साइज का घेवर चाहिए इस प्रक्रिया को उतना ही ज्यादा आपको

दोहराना पड़ेगा।

फिर इसको गुलाबी होने तक सेक कर  किसी स्टील की छड़ से निकालकर किसी थाली नुमा

बर्तन के अंदर रख लीजिए। ताकि इस से निकला हुआ अतिरिक्त तेल नीचे इकट्ठा हो जाए

जिसको आप बाद में हटा सकें अब एक के बाद एक ऊपर नीचे उसी बर्तन में रखते जाइए।

घेवर को मिठास देने के लिए दो तार की चाशनी तैयार करने की विधि:-

चीनी और पानी को मिलाकर एक बर्तन में आंच पर चढ़ा दीजिए। 5 से 6 मिनट या तब

तक पकाएं जब तक चासनी थोड़ी गाढ़ी ना हो जाए।

चेक करने के लिए एक बूंद किसी प्लेट में डालकर ठंडा होने पर अंगूठे और तर्जनी

उंगली की सहायता से चासनी को चेक कीजिए।

अंगूठे और उंगली बीच में दबाने पर इसके अंदर दो तार बननी चाहिए चाशनी तैयार है।

अब इसको ठंडा होने का इंतजार कीजिए और फिर सभी घेवर पर चासनी ऊपर से

डालिए चासनी नीचे तक पार हो जानी चाहिए। अतिरिक्त नीचे से निकाल लीजिए।

मावे वाले घेवर बनाने की विधि

1 किलो दूध को किसी भारी तले के बर्तन में उबालने के लिए रख दीजिए और

धीरे-धीरे चलाइए तब तक पका लीजिए जब तक कि गाढ़ा ना हो जाए।

अब इस रबड़ी जैसे मावे को ठंडा होने पर घेवर के ऊपर अच्छे से फैला दीजिए।

घेवर को सजाने के लिए कटे हुए बादाम पिस्ता काजू और किशमिश को ऊपर से

डालकर सजाइए और किसी सुरक्षित स्थान पर किसी हवा बंद डब्बे के अंदर  रख दीजिए।

आप इसका आनंद 10 से 15 दिनों तक ले सकते हैं।

One thought on “Ghewar Recipe | घेवर बनाने की विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *